व्यक्तिगत सत्याग्रह के दूसरे सत्याग्रही कौन थे? 

Explanation : व्यक्तिगत सत्याग्रह के दूसरे सत्याग्रही जवाहरलाल नेहरू थे। अगस्त प्रस्ताव को अस्वीकार करने के पश्चात् कांग्रेस ने व्यक्तिगत सत्याग्रह शुरू करने का निर्णय लिया। इसका उद्देश्य युद्ध के विरुद्ध प्रचार करना था। व्यक्तिगत सत्याग्रह वर्धा के निकट पवनार आश्रम से 17 अक्टूबर, 1940 को प्रारंभ हुआ। पहले सत्याग्रही विनोबा भावे, दूसरे जवाहरलाल नेहरू तथा तीसरे सरदार पटेल थे। इसमें भाषण की स्वतंत्रता अथवा सार्वजनिक रूप से युद्ध विरोधी बातें कहने को मुद्दा बनाया गया था। यह सत्याग्रह लोगों के अंदर सीमित उत्साह ही जागृत कर सका। इस सत्याग्रह के दौरान अधिकतर सत्याग्रहियों को गिरफ्तार कर लिया जाता था।

Related Post.....