तराइन का द्वितीय युद्ध कब हुआ था? 

Explanation : तराइन का द्वितीय युद्ध 1192 ई. में हुआ था। गुजरात में परास्त होने के पश्चात् गोरी ने पंजाब के रास्ते भारत में प्रवेश करने का प्रयास किया। परिणामस्वरूप अजमेर के चौहान शासक पृथ्वीराज तृतीय (रायपिथौरा) से उसका सामना 1191 ई. में भटिंडा के निकट तराइन के मैदान में हुआ, जिसमें उसकी बुरी तरह पराजय हुई। इसे तराइन का प्रथम युद्ध कहा जाता है। इसके बाद मुइजुद्दीन ने पूरी तैयारी के साथ 1192 ई. में पुन: आक्रमण किया। इस बार तराइन के मैदान में पृथ्वीराज पूर्णतः परास्त हुआ।