श्रीरंगपट्टनम की संधि किसके मध्य हुई थी? 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Explanation : श्रीरंगपट्टनम की संधि टीपू सुल्तान और अंग्रेज के मध्य हुई थी। लॉर्ड कार्नवालिस ने तृतीय आंल–मैसूर युद्ध के दौरान 5 फरवरी, 1792 ई. को श्री श्रीरंगपट्टम के किले पर अधिकार कर लिया। विवश होकर टीपू सुल्तान को अंग्रेजों से मार्च 1792 ई. में श्रीरंगपट्टनम की संधि करनी पड़ी। संधि की शर्तों के अनुसार टीपू को अपना आधा राज्य तथा तीन करोड़ रुपये युद्ध की क्षतिपूर्ति के लिए देना था साथ ही जब तक रुपयों का भुगतान न कर दे तब तक अपने दो पुत्रों को कार्नवालिस के शिविर में बंधक के रूप में रखना था। इस संधि ने मैसूर को आर्थिक एवं सामारिक रूप से कमजोर कर दिया और टीपू के लिए अब अंग्रेजों से मैसूर को बचाये रखना असंभव हो गया।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now