रैयतवाड़ी बंदोबस्त कब लागू हुआ? 

Explanation : रैयतवाड़ी बंदोबस्त 1792 ई. में मद्रास प्रेसीडेंसी में लागू हुआ। यह दक्षिण और पश्चिम भारत में अपनाया गया था, सैद्धांतिक रूप से यह बंदोबस्त रैयत (किसान) और राज्य के बीच एक प्रत्यक्ष संविदा थी। यह तीस वर्षों के लिए लागू की गई थी। रैयतवाड़ी प्रणाली का श्रेय टॉमस मुनरो को है। यह भारत के 51% भाग में लागू की गई थी। इसके अन्तर्गत किसानों से सीधे 33% भू-राजस्व वसूला जाता था। इस व्यवस्था में किसान वर्ग की स्थिति मजबूत हुई थी।

Related Post.....