नाइटहुड की उपाधि किसने वापस कर दी थी? 

Explanation : नाइटहुड की उपाधि रवींद्रनाथ टैगोर ने वापस कर दी थी। उन्होंने 30 मई 1919 को जलियांवाला बाग हत्याकांड के विरोध में नाइटहुड की उपाधि लौटा दी थी। जो उन्हें ब्रिटिश प्रशासन की ओर से 1915 में दी गई थी। 1919 में रविंद्रनाथ टैगोर ने टैगोर ने तत्कालीन वायसराय चेम्सफोर्ड को पत्र लिखा कि पंजाब में ब्रिटिश सरकार का यह अत्याचार शर्मनाक है। ब्रिटिश सरकार की ओर से यह सम्मान एक अपमान जैसा है, जिसे वे त्यागते हैं।