नासिक के जैक्सन हत्याकांड का प्रमुख अभियुक्त कौन था? 

Explanation : नासिक के जैक्सन हत्याकांड का प्रमुख अभियुक्त अनंत लक्ष्मण कान्हेरे था। गणेश सावरकर को सजा देने वाले नासिक के जिला मजिस्ट्रेट जैक्सन की अभिनव भारत के एक युवा अनंत कान्हेरे ने प्रतिशोध की भावना से प्रेरित होकर 21 दिसंबर, 1909 को पिस्तौल से गोली मारकर हत्या कर दी। ‘जैक्सन हत्याकांड’ को ब्रिटिश सरकार ने नासिक षड्यत्र केस का नाम दिया और इस देशद्रोह की श्रेणी में माना। जैक्सन हत्या के आरोप में लक्ष्मण कान्हेरे, कृष्णजी गोपाल कार्वे एवं विनायक देशपाण्डे को 19 अप्रैल, 1911 को फांसी दे दी गई। नासिक षड्यत्र केस में कुल 37 व्यक्तियों पर मुकद्दमा चला। इसमें से विनायक दामोदर सावरकर जो 1907 में लंदन चले गए थे और इन्हें लंदन से गिरफ्तार कर नासिक लाया गया। उनको नासिक केस में दिसंबर 1910 आजीवन निर्वासन का दंड देकर अण्डमान जेल भेज दिया। बाद में प्रांतों में उत्तरदायी सरकार के 1937 में गठन के बाद उन्हें रिहा किया गया।