लाला लाजपत राय के राजनीतिक गुरु कौन थे? 

Explanation : लाला लाजपत राय के राजनीतिक गुरु मैजिनी थे। इटली के क्रांतिकारी मैजिनी को लाजपतराय अपना आदर्श मानते थे। किसी पुस्तक में जब उन्होंने मैजिनी का भाषण पढ़ा तो उससे इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने मैजिनी की जीवनी पढ़नी चाही। वह भारत में उपलब्ध नहीं थी। उन्होंने उसे इंग्लैंड से मंगवाया। मैजिनी द्वारा लिखी गई अभूतपूर्व पुस्तक ‘ड्यूटीज ऑफ मैन’ का लाला लाजपतराय ने उर्दू में अनुवाद किया। लाला लाजपत राय को भारत के महान क्रांतिकारियों में गिना जाता है। ये भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के गरम दल के प्रमुख नेता तथा पूरे पंजाब के प्रतिनिध थे इन्हे ‘पंजाब केसरी’ की उपाधि प्राप्त हुई। उन्होंने कानून की शिक्षा प्राप्त कर हिसार में वकालत प्रारंभ की किन्तु बाद में स्वामी दयानंद के सम्पर्क में आने के कारण वे आर्य समाज के प्रबल समर्थक बन गए। साइमन कमीशन के भारत आगमन के विरोध में हुए लाठीचार्ज द्वारा चोट लगने के कारण इनकी मृत्यु हो गई।

Related Post.....