कूका आंदोलन किसने चलाया? 

Explanation : कूका आंदोलन भगत जवाहर मल ने चलाया। पश्चिमी पंजाब में कूका विद्रोह की शुरुआत 1840 ई. में की थी। सिखों के नामधारी संप्रदाय के लोग कूका भी कहलाते हैं। इन लोगों के सशस्त्र विद्रोह को कूका विद्रोह के नाम से पुकारा जाता है। इस आंदोलन की आरम्भिक प्रवृत्ति धार्मिक थी, परंतु शीघ्र ही यह एक राजनीतिक आंदोलन में बदल गया। इसका प्रमुख उद्देश्य सिख धर्म की बुराइयों को दूर करना था। हजारा को विद्रोह का केंद्र स्थल बनाते हुए जवाहरमल ने बालक सिंह एवं रामसिंह के सहयोग से विद्रोह किया था। भगत जवाहरमल को सियान साहब के नाम से भी जाना जाता था। कूके वीरों की संख्या सात लाख से ऊपर थी। लेकिल अधूरी तैयारी में ही विद्रोह भड़क उठा और इसी कारण वह दबा दिया गया।

Related Post.....