किस शहर में सहस्त्रबाहु मंदिर स्थित है? 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Explanation : ग्वालियर शहर में सहस्त्रबाहु मंदिर स्थित है, जो ग्वालियर किले के पूर्व के कोने में सास-बहू के मंदिर के रूप में लोकप्रिय है। मंदिर के नाम की उत्पत्ति ‘सहस्त्र बाहू’ नाम से संभावित है जिसका अर्थ हजार भुजाओं से है। बाद में यह सास-बहू नाम से जाना जाने लगा। पुरातात्विक वैभव एवं गौरवपूर्ण परंपराओं के अनुसार इस मंदिर का निर्माण कच्छपघात शासकों द्वारा कराया गया था। मंदिरों का निर्माण राजा रत्नपाल द्वारा प्रारंभ किया गया था, जो राजा महिपाल के शासन काल 1093 ई. में पूर्ण हआ था। पूर्ण रूप से विकसित मंदिर का निर्माण पंक्तिबद्ध रूप से उत्तर-दक्षिण दिशा में हुआ, जिसमें गर्भगृह, अंतराल, महामंडप तथा अर्धमंडप दक्षिण से उत्तर की ओर है। समृद्ध नक्काशीदार स्तंभ तथा केंद्रीय सभागार की छत तीन ओर से ड्योढ़ी द्वारा घिरे हुये है तथा बाह्य दीवारें ज्यामितीय, पुष्पाकृतियों, पशु पक्षियों, गज, नर्तक, संगीतकार और कृष्ण लीला के सुंदर दृश्यों से परिपूर्ण है। छोटे मंदिर की बाह्य दीवारें भी इसी प्रकार चित्रित है। इस मंदिर में एक लघु केंद्रीय सभागार व प्रकोष्ठ भी है। बड़े मंदिर के मुखमंडप में लगे प्रस्तर अभिलेख से मंदिर के निर्माण, धार्मिक समुदाय, धार्मिक कर्मकांड एवं मंदिर के राजस्व के बारे में जानकारी प्राप्त होती है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now