जम्मू-कश्मीर का भारत में विलय कब हुआ? 

Explanation : जम्मू-कश्मीर का भारत में विलय 26 अक्टूबर, 1947 को हुआ था। आजादी के बाद 24 अक्टूबर, 1947 को पाकिस्तान के कबायली लड़ाकों ने जम्मू-कश्मीर पर हमला कर दिया था। राजा हरि सिंह ने रक्षा के लिए भारत के समक्ष गुहार लगाई। भारत में विलय नहीं होने के कारण गवर्नर जनरल लार्ड माउंटबेटन ने स्पष्ट कर दिया कि भारत की सेना जम्मू-कश्मीर की मदद नहीं कर सकती है। इसी के साथ भारत ने प्रस्ताव दिया कि जम्मू-कश्मीर विलय पत्र पर हस्ताक्षर कर दे तो भारतीय सेना वहां मदद के लिए जा सकती है। 26 अक्टूबर को राजा हरि सिंह ने विलय पत्र पर हस्ताक्षर कर दिए और जम्मू-कश्मीर भारत का हिस्सा बन गया। पहली बार 1948 में कश्मीर मुद्दा संयुक्त राष्ट्र पहुंचा। भारत की तरफ से विरोध किया गया कि पाकिस्तान ने कश्मीर के कुछ हिस्सों पर बलपूर्वक कब्जा जमा लिया है। 1948 में ही जम्मू-कश्मीर में पहली बार अंतरिम सरकार का गठन हुआ। शेख अब्दुल्ला को प्रधानमंत्री घोषित कर दिया जाता है।