दांडी यात्रा कब से कब तक चली थी? 

Explanation : दांडी यात्रा 12 मार्च 1930 से 6 अप्रैल 1930 तक कुल 24 दिन दिन चली थी। महात्मा गांधी ने अंग्रजों के नमक कानून के विरोध में 12 मार्च 1930 को अहमदाबाद के साबरमती आश्रम से दांडी मार्च की शुरुआत की 24 दिन तक चलने वाली लंबी यात्रा के बाद 6 अप्रैल 1930 को दांडी पहुंचकर महात्मा गांधी ने गैर कानूनी तरीके से नमक बनाकर नमक कानून को तोड़ा था। इसके पश्चात् पूरे देश में सविनय अवज्ञा आंदोलन शुरू हो गया। सुभाषचंद्र बोस ने गांधीजी के दांडी मार्च की तुलना नेपोलियन के पेरिस मार्च तथा मुसोलिनी के रोम मार्च से की।