बिंदुसार की मृत्यु कब हुई? 

Explanation : बिंदुसार की मृत्यु 273 ई.पू. में हुई। चंद्रगुप्त मौर्य की मृत्यु के पश्चात् उसका पुत्र बिंदुसार उसका उत्तराधिकारी बना। यूनानी लेखक बिंदुसार को ‘अमित्रोचेट्स’ कहते थे, जबकि वायु पुराण में उसे ‘भद्रसार’ और जैन ग्रन्थों में उसे ‘सिंहसेन’ कहा गया है। बिंदुसार ने सुदूरवर्ती दक्षिण भारतीय क्षेत्रों को भी जीत कर मगध साम्राज्य में सम्मिलित कर लिया था। बिंदुसार आजीवक संप्रदाय का अनुयायी था।

Related Post.....