भारतीय इतिहास में ‘कुल्यवाप’ और ‘द्रोणवाप’ क्या हैं? 

Explanation : भारतीय इतिहास के संदर्भ में ‘कुल्यवाप’ और ‘द्रोणवाप’ भू-माप प्रमाणी हैं। बंगाल क्षेत्र से प्राप्त अभिलेखीय साक्ष्यों में भूमि की माप हेतु द्रोणवाप, कुल्यवाप, आढ़वाप तथा पाटक पदावली का संदर्भ मिलता है तो मध्य भारत से निवर्तन तथा भूमि और पश्चिम भारत से पदावर्त तथा निवर्तन पदों का। ये पद मुख्यतः गुप्तकाल और उसके बाद के समय में प्रचलन में थे।