भारत की प्रथम महिला शिक्षिका कौन थी? 

Explanation : भारत की प्रथम महिला शिक्षिका सावित्रीबाई फुले थी। इनका जन्म 3 जनवरी, 1831 में बांबे प्रांत (अब महाराष्ट्र) के नायगांव में हुआ था। नौ साल की उम्र में उनका विवाह हो गया। सावित्रीबाई फुले को भारत की सबसे पहली आधुनिक नारीवादियों में से एक माना जाता है। 1840 में महज नौ साल की उम्र में सावित्रीबाई का विवाह 13 साल के ज्योतिराव फुले से हुआ था। उन्होंने बाल विवाह और सती प्रथा जैसी बुराइयों के खिलाफ आवाज उठाई। विवाह के बाद ही पढ़ाई शुरू की और देश की पहली महिला शिक्षक बनीं। तब लड़कियों की शिक्षा पर सामाजिक पाबंदी थी। अपने पति ज्योतिराव के साथ मिलकर उन्होंने महिला शिक्षा पर बहुत जोर दिया। देश में लड़कियों के लिए पहला स्कूल साावित्रीबाई और उनके पति ज्योतिराव ने 1848 में पुणे में खोला था। इसके बाद सावित्रीबाई और उनके पति ज्योतिराव ने मिलकर लड़कियों के लिए 17 और स्कूल खोले। 1854 में विधवाओं के लिए आश्रम बनाया। 1897 में पुणे में प्लेग फैला था और इसी महामारी की वजह से 66 वर्ष की उम्र में सावित्रीबाई फुले का 10 मार्च 1897 को पुणे में निधन हो गया था।

Related Post.....