अंग्रेजों का झारखंड में सर्वप्रथम प्रवेश किस ओर से हुआ? 

Explanation : अंग्रेजों का झारखंड में सर्वप्रथम प्रवेश सिंहभूम ओर से हुआ था। वर्ष 1760 में ब्रिटिश कंपनी का मिदनापुर पर कब्जा हो चुका था। इसी समय सिंहभूम पर कब्जे की नीति बनाई गई। जनवरी, 1767 में फरगुसन के नेतृत्व में अंग्रेजों ने सिंहभूम पर आक्रमण किया। बता दे कि जगन्नाथ सिंह चतुर्थ ने कोल्हान लड़ाकों से त्रस्त होकर अंग्रेजों की शरण ली थी। नागवंशी दीपनाथ शाह ने मराठा आतंक से मुक्ति के लिए अंग्रेजों से सहयोग लिया था। वही, झारखंड में ईस्ट इंडिया कंपनी का आगमन सन् 1767 में हुआ था, जबकि इसकी औपचारिक शुरूआत 1765 ई. की इलाहाबाद संधि से हो चुकी थी।

Related Post.....