आर्य समाज की स्थापना किसने की थी? 

Explanation : आर्य समाज की स्थापना 7 अप्रैल, 1875 में स्वामी दयानन्द सरस्वती ने बंबई में की थी। 1877 ई. में इसका मुख्यालय लाहौर को बनाया गया था। आर्य समाज की स्थापना का उद्देश्य वैदिक धर्म को पुन: स्थापित करना, भारत को सामाजिक, धार्मिक व राजनीतिक रूप में एक सूत्र में बाँधना तथा भारतीय संस्कृति पर पाश्चात्य प्रभाव को रोकना था। भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने अपनी रचना ‘डिस्कवरी ऑफ इंडिया’ में आर्य समाज का वर्णन करते हुए उसे हिंदू समाज में जागृति लाने वाला प्रयास माना। आर्य समाज का प्रसार पंजाब, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, राजस्थान तथा महाराष्ट्र में अधिक हुआ था। आर्य समाज के अन्य महत्त्वपूर्ण समर्थक-पंडित गुरुदत्त, लाला लाजपत राय, स्वामी श्रद्धानंद तथा हंसराज आदि थे।